Thelokjan

site logo

क्या जंग के पहले ही विपक्ष ने मान ली हार?

लखनऊ | तो क्या नगरीय निकाय चुनावों में विपक्ष ने चुनाव के पहले ही अपनी हार कबूल कर ली है? क्या अपने चुनिंदा गढ़ों को बचाने की चिंता में उन्होंने पूरे प्रदेश में सत्तापक्ष (भाजपा) को वॉकओवर दे दिया है ? पहले चरण के चुनावों के लिए 4 मई को मतदान होना है। 2 मई को चुनाव प्रचार थम जाएगा। इस लिहाज से देखें तो अब पहले चरण में प्रचार के लिए गिनती के चंद रोज ही बचे हैं। और अब तक प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कांग्रेस की कहीं से भी सक्रिय नहीं नजर आती है। इसकी तुलना में भाजपा के सरकार और संगठन ने इन चुनावों में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। अप्रैल की गर्मी से बेपरवाह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई में दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, ब्रजेश पाठक एवं अन्य मंत्री फील्ड में पसीना बहा रहे हैं। स्थानीय सांसदों एवं विधायकों को भी बागियों को मनाने एवं हर हाल में जीत हासिल करने का साफ संदेश संगठन की ओर से दिया जा चुका है।

रही विपक्ष की बात तो उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा 10 महीने से प्रदेश में आयी ही नहीं। फिलहाल वह कर्नाटक के चुनावों में व्यस्त हैं।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव अभी तक फील्ड से नदारद हैं। संभव है अंतिम दो- चार दिनों के दौरान वह लखनऊ समेत कुछ चुने हुए जिलों में सभाएं करें। बसपा की सुप्रीमों मायावती प्रचार के लिए निकलेंगी इसकी कोई उम्मीद फिलहाल नहीं है। रही उप्र में बिना किसी जमीन के पांव पसारने की कोशिश करने वाली केजरीवाल के आम आदमी पार्टी (आप) की तो इसके अकेले किरदार सांसद संजय सिंह हैं। उनका सारा प्रयास प्रेस कॉन्फ्रेंस तक ही सीमित है।

योगी ने संभाली कमान
हर चुनावों की तरह इस चुनाव की भी कमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाल ली है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, शामली,अमरोहा,उन्नाव, रायबरेली, लखनऊ में उनकी जनसभाएं हो चुकी हैं। गुरुवार को आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद में उनकी सभाएं हुई जबकि आज शुक्रवार को नैमिषारण्य, लखीमपुरखीरी, बलरामपुर एवं गोरखपुर में भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रस्तावित कार्यक्रम हैं।

शुक्रवार और शनिवार को गोरखपुर मंडल के सभी जिलों में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम लगें हैं। पहले दिन शुक्रवार को सिविल लाइंस स्थित आशीष मैरेज हाल (गोरखपुर क्लब परिसर) में चिकित्सको के सम्मेलन में भाग लेंगे। इसके बाद राप्तीनगर के डॉ भीमराव आंबेडकर जूनियर हाईस्कूल परिसर में एक सभा को भी संबोधित करेंगे।

इस क्रम को जारी रखते हुए शनिवार को वह गोरखपुर महानगर के आर्यनगर उत्तरी स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में व्यापारी सम्मेलन में अपना मार्गदर्शन देंगे। इसके बाद महराजगंज से जीएसवीएस डिग्री कॉलेज में जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद कुशीनगर के उदित नारायण पीजी कॉलेज में पार्टी की ओर से आयोजित जनसभा को संबोधित करेंगे। शाम को देवरिया के राजकीय इंटर कॉलेज मैदान में भी मुख्यमंत्री एक चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। एक मई को गोरखपुर में टाउनहॉल पर भी उनकी एक सभा होनी है। होगी। चूंकि गोरखपुर मुख्यमंत्री का गृह जनपद है। लिहाजा यहां की हार-जीत उनकी साख से जुड़ती है। यही वजह है कि गोरखपुर पर उनका खास फोकस है। इसके पहले भी 19 अप्रैल को वह वहां सभी जिलों की अलग-अलग बैठक कर कार्यकर्ताओं को जीत हासिल करने के टिप्स दे चुके हैं।

पहले चरण में मेयर की 10 सीटें
उल्लेखनीय है कि पहले चरण में 10 नगर निगमों के मेयर, 830 पार्षदों, 104 नगर पालिका अध्यक्ष, 276 नगर पंचायत अध्यक्ष और इनके सदस्य चुने जाने हैं।

पहले चरण में सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मथुरा, आगरा, फिरोजाबाद, झांसी, प्रयागराज, लखनऊ, गोरखपुर और वाराणसी में मेयर चुने जाने हैं। 2017 के चुनावों में भाजपा ने इनपर क्लीनस्वीप किया था। इसी चरण में मैनपुरी और रामपुर भी हैं। यहां सपा के दम-खम की एक बार फिर परीक्षा होगी।

Must Read

Latest News

CG News: महादेव सट्टा ऐप, लोटस ऐप के नाम से संचालित कर खाते से अवैध लेनदेन करने वाला गिरोह का भांडा फूटा

रायगढ़। रायगढ़ पुलिस ने प्रतिबंधित महादेव सट्टा ऐप एवं लोटस ऐप में पैसों के अवैध लेन- देन हेतु ग्रामीणों को गुमराह कर उनके बैंक अकाउंट का

Jharkhand News- मतदाता सूची के पुनरीक्षण में राजनीतिक दलों से सहयोग अपेक्षित : के. रवि कुमार

राँची: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रवि कुमार ने निर्वाचन सदन में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर उनसे मतदाता सूची के द्वितीय

Jharkhand News-बीएलओ घर-घर जाकर मतदाता सूची का पुनरीक्षण करेंगी:मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी

राँची: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के. रवि कुमार ने राज्य में होने वाले मतदाता सूची के द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर

Jharkhand NEWS- वनपट्टा आवेदनों को जानबूझकर रद्द न करें: चम्पाई सोरेन

रांची: मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन आज श्रीकृष्ण लोक प्रशासन संस्थान के सभागार में आयोजित अबुआ बीर अबुआ दिशोम अभियान विषय पर आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में

Jharkhand News- अधिकारियों के अकर्मण्यता एवं ढुलमुल रवैया के कारण कंपनी गैरजिम्मेदारी से काम करती है: सीपी सिंह

रांची: आज झारखंड विधानसभा में रांची सहित राज्य में पाइपलाइन बिछाने तथा सीवरेज ड्रेनेज हेतु सड़क खोदने के पश्चात सड़क को पूर्ववर्ती स्थिति में लाने

JH- माझी परगना व्यवस्था मजबूत होगा तभी आदिवासी समाज आगे बढ़ेगा: चम्पाई सोरेन

घाटशिला।माझी परगना  व्यवस्था जब मजबूत होगा तभी आदिवासी समाज आगे बढ़ेगा। हमारी सरकार इस राज्य की आदिवासी पारंपरिक स्वशासन व्यवस्था को सशक्त करने के लिए