Thelokjan

site logo

लखनऊ का ये पार्क गर्मियों के लिए बेस्ट, शाम को देता है अलग ही मज़ा

उत्तर प्रदेश
जिंदगी की भाग दौड़ में हम समय इतना व्यस्त हो जाते हैं कि परिवार के साथ सुकून के पल व्यतीत नहीं कर पाते. अगर परिवार के साथ बाहर जाना भी हो तो कॉफी शॉप, मॉल और सिनेमा हॉल ही ऑप्शन मिलता है, लेकिन पूरे हफ्ते काम करने के बाद वीकएंड का समय परिवार के साथ पार्क में ताजी हवा में बिताने को मिल जाए तो बड़ा मजेदार अनुभव होता है. हम बात कर रहे हैं लखनऊ के “कालिंदी वन पार्क” की, जो बच्चो और परिवार के साथ आने वालों के लिए बेहद खास है. आपने पार्क तो बहुत देखे और घूमे होंगे, लेकिन ऐसा पार्क नहीं देखा होगा.

ये एक ऐसा पार्क है. जहां आप अपने बच्चों और परिवार के साथ क्वालिटी समय व्यतीत कर सकते हैं. बिना किसी ऐसे तत्वों के जो आप को आपके बच्चे और परिवार के सामने असुविधाजनक लगें. इस पार्क में आपको कई तरह के फूल दिखाई देंगे. यहां पार्क के बीचों-बीच एक तालाब है, जिसमें कई रंग बिरंगी मछलियां हैं, जो बहुत सुन्दर दिखाई देती हैं. एक झरना बना है जो शाम के समय आकर्षण का केंद्र भी बना रहता है. इस पार्क में बहुत से झूले भी हैं, जो बच्चों के मन को मोहित कर लेते हैं.

सुकून की तलाश में बहुत से लोग शाम में यहां आते हैं. पार्क की खूबसूरती और शांत वातावरण लोगों के मन को मोह लेता है. यहां आने वाले व्यक्तियों का कहना है कि इस पार्क में फैमिली के साथ आया जा सकता है. साफ सफाई से साथ बच्चों के लिए बहुत एंजॉयमेंट होता है. शाम में तो और भी मजा आता है.

ऐसे पहुंचे पार्क
ये कालिंदी वन पार्क लखनऊ में वृन्दावन योजना सेक्टर 2 में है. इस पार्क के खुलने की टाइमिंग सुबह 5 बजे है और बंद होने की टाइमिंग रात के 8:30 बजे है. अगर आप भी यहां अपने परिवार के साथ आना चाहते हैं तो आप चारबाग रेलवे स्टेशन से आसानी से अपने निजी वाहन/कैब/बस से वृन्दावन योजना सेक्टर 2, लखनऊ 226002 आ सकते है.

Must Read

Latest News

2017 से पहले जिन विद्यालयों में बच्चे आने से डरते थे, 6 वर्ष में वहां 55 से 60 लाख अतिरिक्त बच्चों की बढ़ी है संख्याः सीएम योगी

लखनऊ। 2017 से पहले बेसिक शिक्षा स्कूलों में बच्चे आने से डरते थे, लोगों में उत्साह नहीं था। स्कूलों में पेड़ों की जगह झाड़ियां जमा

फिजा के सदस्यों को पूरे यूपी के फिजियोथिरेपिस्ट देंगे मुफ्त परामर्श

द इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथिरेपी और फेडरेशन ऑफ इंडियन जर्नलिस्ट्स एंड एक्टिविस्ट्स (फिजा) के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को साकेत नगर स्थित एक होटल में

उत्तर प्रदेश- AI के जरिए बेसिक के बच्चे सीख रहे कविताएं एवं पहाड़े, शिवेंद्र ने तैयार किए AI शिक्षक

हरदोई। टेक्नोलॉजी जैसे जैसे एडवांस होती जा रही है, वैसे वैसे लोग भी इसका जमकर फायदा उठा रहे है। जहां पहले सरकारी स्कूलों की शिक्षा