Thelokjan

site logo

10वीं की NCERT किताबों में अब नहीं दिखेगा Periodic Table और डेमोक्रेसी का चैप्टर

नई दिल्ली | राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान परिषद ने 10वीं क्लास से पीरियोडिक टेबल हटा दिया है। कोविड-19 के समय में सिलेबस कम करने के लिए अस्थाई रूप से पीरियोडिक टेबल को हटाया गया था। लेकिन अब इसे सिलेबस से स्‍थाई तौर पर हटाने का फैसला किया गया है।

‘छात्रों का बोझ कम करने के लिए हटाए गए चैप्टर’ – NCERT
आपको बता दें कि इस साल के शुरू में NCERT ने थियरी ऑफ इवोल्यूशन चैप्टर को 10वीं क्लास से हटा दिया था। अब NCERT ने नई किताबों से कुछ चैप्टर को हटाने का फैसला लिया है, जिसमें पीरियोडिक टेबल वाला चैप्टर भी है। साइंस की किताब से इन्वॉयरमेंटल सस्टेनबलिटी और सोर्स ऑफ एनर्जी के अलावा डेमोक्रेसी पर शामिल चैप्टर को भी 10वीं क्लास की पुस्तकों से हटा दिया गया है।

NCERT ने इन चैप्टर को हटाने को जरूरी बताते हुए कहा इससे छात्रों बोझ कम होगा। परिषद ने कहा कि डिफकल्टी लेवल, एक ही चीज अलग-अलग चैप्टर में होना और मौजूदा परिस्थिति में गैर-जरुरी कंटेंट होने के कारण भी यह फैसला किया गया है।
हालांकि छात्र इन चैप्टर को आगे पढ़ सकते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें 11वीं और 12वीं क्लास में इस सब्जेक्ट को चुनना होगा।

  • कोविड के कारण कोर्स को तार्किक बनाया जा रहा है और बच्चों का बोझ कम किया जा रहा है. अगर बच्चे डार्विन का सिद्धांत पढ़ना चाहते हैं तो वो वेबसाइट पर जाकर इसे पढ़ सकते हैं. कक्षा 12 में पहले से ही डार्विन का सिद्धांत किताब में है. इसलिए ऐसे झूठा प्रोपेगैंडा नहीं फैलाया जाना चाहिए.
    सुभाष सरकार, केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री

इसी साल जब NCERT ने विज्ञान की किताब से थियरी ऑफ इवोल्यूशन को हटाने का फैसला लिया था तो इसका काफी विरोध हुआ। करीब 1800 वैज्ञानिकों और शिक्षाविदों ने इस मुद्दे पर खुला पत्र लिखा था।

Must Read

Latest News

2017 से पहले जिन विद्यालयों में बच्चे आने से डरते थे, 6 वर्ष में वहां 55 से 60 लाख अतिरिक्त बच्चों की बढ़ी है संख्याः सीएम योगी

लखनऊ। 2017 से पहले बेसिक शिक्षा स्कूलों में बच्चे आने से डरते थे, लोगों में उत्साह नहीं था। स्कूलों में पेड़ों की जगह झाड़ियां जमा

फिजा के सदस्यों को पूरे यूपी के फिजियोथिरेपिस्ट देंगे मुफ्त परामर्श

द इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथिरेपी और फेडरेशन ऑफ इंडियन जर्नलिस्ट्स एंड एक्टिविस्ट्स (फिजा) के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को साकेत नगर स्थित एक होटल में

उत्तर प्रदेश- AI के जरिए बेसिक के बच्चे सीख रहे कविताएं एवं पहाड़े, शिवेंद्र ने तैयार किए AI शिक्षक

हरदोई। टेक्नोलॉजी जैसे जैसे एडवांस होती जा रही है, वैसे वैसे लोग भी इसका जमकर फायदा उठा रहे है। जहां पहले सरकारी स्कूलों की शिक्षा