Thelokjan

site logo

ओडिशा ट्रेन हादसा : 1995 से 2023 तक, भारतीय इतिहास के कुछ सबसे बड़े ट्रेन हादसे

2023: ओडिशा ट्रेन हादसा
2 जून, 2023 में ओडिशा में बेंगलुरू-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस, शालीमार-चेन्नई सेंट्रल कोरोमंडल एक्सप्रेस और एक मालगाड़ी के टकराने से बड़ा हादसा हो गया है, इसमें कम से कम 280 लोग के मारे जाने की खबर है 900 से ज्यादा लोग घायल हैं.

Odisha Train Accident | ओडिशा में हुए बड़े ट्रेन हादसे में 230 से ज्यादा लोगों की मौत की सूचना है (Coromandal Express) और 900 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. ये हादसा बालासोर जिले के बहनागा रेलवे स्टेशन के पास हुआ. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं.

बताया जा रहा है कि पिछले 10 सालों में हुआ ये सबसे बड़ा ट्रेन हादसा है। आइए जानते हैं भारतीय इतिहास के कुछ अन्य बड़े ट्रेन हादसे के बारे में।

1995: फिरोजाबाद ट्रेन हादसा
20 अगस्त 1995 में उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के पास पुरुषोत्तम एक्सप्रेस और कालिंदी एक्सप्रेस के बीच टक्कर हो गई थी. इस दुर्घटना में लगभग 358 लोगों की जान चली गई थी.

1999: गैसल ट्रेन हादसा
2 अगस्त 1999 में असम के गैसल के पास ब्रह्मपुत्र मेल अवध और असम एक्सप्रेस आपस में टकरा गई थी, हादसे में करीब 290 लोगों की मौत हो गई थी.

1998: खन्ना ट्रेन हादसा
26 नवंबर, 1998 में जम्मू तवी-सियालदह एक्सप्रेस खन्ना, पंजाब के पास कालिंदी एक्सप्रेस से टकरा गई थी. इस हादसे में करीब 212 लोगों की जान चली गई थी.

1988: पेरुमन ट्रेन हादसा
8 जुलाई, 1988 में केरल के पेरुमन के पास आईलैंड एक्सप्रेस एक लोकल पैसेंजर ट्रेन से टकरा गई थी. इस हादसे में करीब 150 लोगों की मौत हो गई थी.

2012: हम्पी एक्सप्रेस हादसा
22 मई, 2012 में हम्पी एक्सप्रेस ट्रेन हादसा हुआ था. हादसा आंध्र प्रदेश के पास हुआ था, इसमें मालगाड़ी और हुबली-बैंगलोर हम्पी एक्सप्रेस की टक्कर हो गई थी. इस दौरान ट्रेन की चार बोगियां पटरी से उतर गई थी और एक बोगी में आग लग गई थी, इस कारण लगभग 25 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 43 लोग घायल हुए थे.

2014: गोरखधाम एक्सप्रेस हादसा
26 मई, 2023 में उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर इलाके में गोरखपुर की ओर जा रही गोरखधाम एक्सप्रेस खलीलाबाद स्टेशन के पास खड़ी मालगाड़ी से टकरा गई थी. इस हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई था और 50 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

2016: इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा
20 नवंबर, 2016 में इंदौर-पटना एक्सप्रेस (19321) भारत के कानपुर में पुखरायां के पास पटरी से उतर गई थी, जिसमें कम से कम 150 यात्रियों की मौत हो गई थी और 150 से अधिक घायल हुए थे.

2017: दो हादसे | कैफियत एक्सप्रेस और पुरी-हरिद्वार उत्कल एक्सप्रेस

18 अगस्त, 2017 में पुरी-हरिद्वार उत्कल एक्सप्रेस मुजफ्फरनगर में पटरी से उतर गई थी, जिसमें 23 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 60 अन्य लोग घायल हुए थे.

23 अगस्त, 2017 में दिल्ली जाने वाली कैफियत एक्सप्रेस के नौ कोच उत्तर प्रदेश के औरैया के पास पटरी से उतर गए थे, इसमें कम से कम 70 लोग घायल हुए थे.

2022: बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस हादसा
13 जनवरी, 2022 में बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस के कम से कम 12 डिब्बे पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार क्षेत्र में पटरी से उतर गए थे, इस हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई थी और 36 अन्य लोग घायल हो गए थे.

 

Must Read

Latest News

रायपुर : मुख्यमंत्री से रायपुर प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने की सौजन्य मुलाकात

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय से आज यहाँ राज्य अतिथि गृह पहुना में रायपुर प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने

मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग में सहायक लेखाकार के पद पर चयनित 67 अभ्यर्थियों को दिए नियुक्ति पत्र, बोल- उत्तराखंड को बनाएं सर्वश्रेष्ठ राज्य

 उत्तराखंड। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास परिसर में आयोजित नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में लोक सेवा आयोग के माध्यम से कृषि विभाग