Thelokjan

site logo

कहां गया कवच-कुण्डल, रेल मंत्री जवाब दो….

बालासोर(उड़ीसा) | बालासोर ट्रेन हादसे के बाद कई बड़े सवाल मुंह बाए खड़े हैं। क्या जो ट्रेनें दुर्घटनाग्रस्त हुईं उनमें ट्रेनों में एंटी कॉलिजन सिस्टम (कवच) लगा हुआ था? अगर हां तो इसमें काम क्यों नहीं किया। इन ट्रेनों में सिस्टम नहीं लगा था तो क्यों, ये सवाल भी रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से पूछा जाएगा, क्योंकि देश के आम नागरिक की जेब का सैकड़ों करोड़ रुपया खर्च करके रेलमंत्री और मौजूदा सरकार ने ये सुरक्षा सिस्टम खरीदा है। ये सवाल इसलिए भी बनता है कि ट्रेनों के लिए कवच की घोषणा रेलमंत्री ने जोर शोर से की थी। कवच के बारे में रेल मंत्री ने क्या कहा था, ये भी जरा सुनिए……

और इन 10 सवालों के जवाब और दीजिये…

1 – क्या ट्रेनों में एंटी कॉलिजन सिस्टम (कवच) लगा हुआ था?
2 – अगर कवच था तो फिर टक्कर कैसे हुई?
3 – GPS मॉनिटरिंग में ट्रेन हादसे का पता क्यों नहीं चला?
4 – स्टेशन पास था तो ट्रेनों की रफ्तार इतनी तेज क्यों थी?
5 – क्या दुरंतो एक्सप्रेस का ऑटोमेटिक ब्रेकिंग सिस्टम फेल हुआ?
6 – क्या रेल में कोई क्रैक था या फिर प्लेट ढीली थी?
7 – क्या पटरियों में पहले से कोई खामी थी?
8 – क्या पटरियों की रूटीन जांच में कोई लापरवाही हुई?
9 – क्या पटरियों के साथ कोई छेड़छाड़ हुई?
10 – क्या तेज रफ्तार की वजह से डिरेल हुई ट्रेन?

Must Read

Latest News

रायपुर : मुख्यमंत्री से रायपुर प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने की सौजन्य मुलाकात

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय से आज यहाँ राज्य अतिथि गृह पहुना में रायपुर प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने

मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग में सहायक लेखाकार के पद पर चयनित 67 अभ्यर्थियों को दिए नियुक्ति पत्र, बोल- उत्तराखंड को बनाएं सर्वश्रेष्ठ राज्य

 उत्तराखंड। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास परिसर में आयोजित नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में लोक सेवा आयोग के माध्यम से कृषि विभाग