Thelokjan

site logo

Cyclone Biporjoy ने लिया खतरनाक रूप, फ़िलहाल गुजरात में स्थित, पहुँच सकता है राजस्थान, देखिये EXCLUSIVE VISUALS

Cyclone Biparjoy Updates: चक्रवाती तूफान बिपोर्जॉय गुजरात में एंट्री ले चुका है. इसके चलते यहां के सौराष्ट्र और कच्छ के तटीय इलाकों में इसका लैंडफॉल भी शुरू हो गया. चक्रवात के चलते गुजरात के कई इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है और 100 से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं. बिपोर्जॉय गुजरात से अब आगे बढ़ने की फिराक में है. ऐसा माना जा रहा है कि बिपोर्जॉय तूफान 16 जून को राजस्थान में अपना कहर दिखा सकता है.

इसके चलते मौसम विभाग ने पूरे राजस्थान में रेड अलर्ट जारी कर दिया है. मौसम विभाग की मानें तो आज बाड़मेर, जालौर, जैसलमेर और जोधपुर समेत आसपास के कई क्षेत्रों में झमाझम बारिश और तूफान की आशंकाएं हैं.

कच्छ पर स्थित चक्रवाती तूफान (Cyclonic Storm) “बिपारजॉय”
सौराष्ट्र- कच्छ पर स्थित प्रचण्ड चक्रवाती तूफान (Severe Cyclonic Storm) “बिपारजॉय” पिछले 6 घंटों के दौरान पूर्व-उत्तरपूर्व दिशा मे 10 किमी प्रति घंटे की गति करते हुए एक चक्रवाती तूफान में कमजोर हो गया और आज 16 जून 2023 को भारतीय समयानुसार 08:30 बजे, सौराष्ट्र- कच्छ पर लगभग 23.4°N अक्षांश और 69.5°E देशांतर के पास, भुज से 30 किमी पश्चिम-उत्तर-पश्चिम में स्थित था।

इसके लगभग पूर्व-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ने और आज, 16 जून की शाम के आसपास एक गहन अवदाब (deep depression) में कमजोर होने की संभावना है।

गुजरात को पूरी रात झकझोरने वाले बिपरजॉय चक्रवात की तीव्रता धीरे-धीरे कम हो रही है। आज दोपहर 12 बजे के करीब बिपरजॉय भुज से 40 किमी उत्तर में था। गुजरात में मौसम विभाग की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने बताया है कि सुबह की तुलना में दोपहर बाद चक्रवात की तीव्रता काफी कम हुई है।

शाम तक और तीव्रता कम हो जाएगी, उसका रास्ता पूर्वोत्तर दिशा में कच्छ के ऊपर है। उत्तर गुजरात में इसका प्रभाव दिखेगा।

Must Read

Latest News

2017 से पहले जिन विद्यालयों में बच्चे आने से डरते थे, 6 वर्ष में वहां 55 से 60 लाख अतिरिक्त बच्चों की बढ़ी है संख्याः सीएम योगी

लखनऊ। 2017 से पहले बेसिक शिक्षा स्कूलों में बच्चे आने से डरते थे, लोगों में उत्साह नहीं था। स्कूलों में पेड़ों की जगह झाड़ियां जमा

फिजा के सदस्यों को पूरे यूपी के फिजियोथिरेपिस्ट देंगे मुफ्त परामर्श

द इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथिरेपी और फेडरेशन ऑफ इंडियन जर्नलिस्ट्स एंड एक्टिविस्ट्स (फिजा) के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को साकेत नगर स्थित एक होटल में

उत्तर प्रदेश- AI के जरिए बेसिक के बच्चे सीख रहे कविताएं एवं पहाड़े, शिवेंद्र ने तैयार किए AI शिक्षक

हरदोई। टेक्नोलॉजी जैसे जैसे एडवांस होती जा रही है, वैसे वैसे लोग भी इसका जमकर फायदा उठा रहे है। जहां पहले सरकारी स्कूलों की शिक्षा